अपघर्षक दानों के प्रकार

अपघर्षकों के क्षेत्र में दानों के प्रकार का तात्पर्य उन विभिन्न प्रकार के खनिजों से है जो अपघर्षक उपकरणों के निर्माण के दौरान उपयोग किये जाते हैं.  चूंकि पिसाई की प्रक्रिया का महत्त्वपूर्ण हिस्सा, अर्थात् संसाधित होने वाले सामग्रियों की कटाई इन खनिजों द्वारा की जाती है, इसी लिए दानों के प्रकार का अपघर्षक की उपयुक्तता क्षेत्र और कार्य-संपादन पर एक बड़ा प्रभाव पड़ता है.

दानों के विभिन्न गुणों का एक विहंगावलोकन और सबसे अधिक इस्तेमाल किए जाने वाले दानों के प्रकारों के घिस जाने की प्रारूपिक विशेषताओं को नीचे दिए गए ग्राफ में दर्शित किया गया है.

ऐतिहासिक रूप से, दानें के दो प्रमुख समूह हैं - प्राकृतिक और कृत्रिम  प्राकृतिक दानों के प्रकारों में विशेष रूप से चकमक पत्थर, रक्तमणि और एमरी शामिल हैं; हालांकि, इन दानों के प्रकारों का अपघर्षकों के उत्पादन में अब शायद ही उपयोग किया जाता है. इसके बजाय, आजकल उत्पादित अपघर्षक आमतौर पर कृत्रिम दानों के प्रकार जैसे एल्यूमीनियम ऑक्साइड, ज़िरकोनिया एल्यूमिना, सिलिकॉन कार्बाइड और सिरेमिक एल्यूमीनियम ऑक्साइड के साथ बनाया जाते हैं. प्राकृतिक दानों की तुलना में, कृत्रिम दानें न सिर्फ़ कठोरता और दृढ़ता जैसे महत्वपूर्ण लाभ प्रदान करते हैं; इसके अलावा, उनके गुणों में अधिक एकरूपता होती है, और यह विशेषता उन्हें दक्षतापूर्ण औद्योगिक अनुप्रयोगों में पहले स्थान पर उपयोग किये जाने के लिए उत्तीर्ण करती है.
अपने ग्राहकों को अनुप्रयोगों की एक विस्तृत श्रृंखला और उनके विशिष्ट उद्देश्य के लिए उपयुक्त अनुप्रयोग-योग्यता प्रदान करने के लिए, Klingspor अपने अपघर्षक उपकरणों (बेल्टें, रोलर, शीटें, डिस्क, स्ट्रिप्स, फाइबर डिस्क, कृत्रिम राल-से-अनुबद्ध काटने के पहिये और पीसने के डिस्क, अपघर्षक मॉप डिस्क, अपघर्षक मॉप पहिये और इलास्टिक जोड़ वाले अपघर्षक) की दानों के विभिन्न प्रकारों के साथ बिक्री करता है. इस तरह से यह सुनिश्चित किया जाता है की ग्राहक संसाधित किये जाने वाली सामग्री और काम के टुकड़े के लिए हमेशा उपयुक्त दानों के प्रकार का चयन कर पाएं और उन्हें पिसाई के आशानुसार परिणाम प्राप्त हों.

शब्द और परिभाषाओं पर वापिस जाएं


सभी सहाय्य विषय