फ़्लेक्सिंग

"फ्लेक्सिंग" को ताज़ा उत्पादित अपघर्षक रोलर के ऊपर करे जाने वाले अनिवार्य अनुवर्ती प्रशोधन के रूप में परिभाषित किया जाता है.  यह प्रशोधन रोलर के आगे के प्रसंस्करण (अपघर्षक बेल्टों, घर्षण शीटों और अपघर्षक डिस्कों में तब्दील होना) से पहले किया जाता है.
अपघर्षक रोलर को तथाकथित “लेपित अपघर्षक” कहा जाता है, जिसका तात्पर्य है अपघर्षक दानों को एक लचीले पेपर, सूती या सिंथेटिक मिश्रित कपड़े वाले तलपर बिछा कर गोंद (जुड़ाई) से या किसी विशेष वार्निश (बाद-का-लाह या शीर्ष कोट) से तल में जड़ना. शीर्ष कोट की  कठोरता और भंगुरता के कारण, अपघर्षक अपने निर्माण के तुरंत बाद ही भंगुर और नाजुक होते हैं और तत्काल उपयोग के लिए अनुपयुक्त होतें हैं .

बाद में फ़्लेक्सिंग प्रक्रिया के दौरान, अपघर्षक को एक तथाकथित फ़्लेक्स शाफ्ट के पार कई बार अलग कोणों पर खींचा जाता है.  यह प्रक्रिया शीर्ष कोट को ज्यामितीय ढंग से परिभाषित और भंग करती है, और इस प्रकार अपघर्षक को आगे की प्रक्रिया और उपयोग के लिए आवश्यक लचीलापन प्रदान करती है.

शब्द और परिभाषाओं पर वापिस जाएं


सभी सहाय्य विषय